Gopal kanda विधायक गोपाल कांडा बने श्री अग्रसेन फाउंडेशन के भामाशाह बोर्ड ऑफ ट्रस्टी

Haryana News
3 Min Read
Gopal kanda MLA Gopal Kanda becomes Bhamashah Board of Trustee of Shri Agrasen Foundation.
JOIN WHATSAPP CHANNEL Join Now
Join Telegram Group Join Now

Dainik Haryana News, Gurugram/sirsa.  अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल शरण गर्ग  ने  प्रमुख समाजसेवी,  सिरसा विधायक , पूर्व गृहराज्यमंत्री  गोपाल कांडा  से शिष्टाचार भेंट की। इस मौके पर अग्रोहा शक्तिपीठ तीर्थ स्थल (अग्रोहा) में निर्माणाधीन कुलदेवी आद्य महालक्ष्मी एवं अष्टलक्ष्मी जी के भव्य एवं अलौकिक मंदिर निर्माण की रूपरेखा पर विस्तार से चर्चा की गई। साथ ही गोपाल कांडा को  श्री अग्रसेन फाउंडेशन के  भामाशाह बोर्ड ऑफ ट्रस्टी बनाया गया। इस मौके पर गोपाल कांडा ने कहा कि  यह उनके और  उनके  परिवार के लिए गर्व की बात है कि मां कुलदेवी के मंदिर निर्माण में उनके परिवार का भी  सहयोग रहेगा।

Gopal kanda के प्रतिष्ठान पर पहुंचे अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन के पदाधिकारी

अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल शरण गर्ग,  हरियाणा प्रदेश के वरिष्ठ उपाध्यक्ष गजेंद्र गुप्ता और गुरुग्राम जिला उपाध्यक्ष विजय अग्रवाल के  साथ विधायक गोपाल कांडा से उनके प्रतिष्ठान पर जाकर मिले। जहां पर अग्रोहा शक्तिपीठ तीर्थ स्थल (अग्रोहा) में निर्माणाधीन कुलदेवी आद्य महालक्ष्मी एवं अष्टलक्ष्मी   के भव्य एवं अलौकिक मंदिर निर्माण की रूपरेखा पर विस्तार से चर्चा की गई। इस मौके पर गोपाल शरण गर्ग ने कहा कि अग्रोहा धाम में देश के सबसे बड़ा माता कुलदेवी महालक्ष्मी का शक्तिपीठ है।

 

Gopal kanda बोले उनके परिवार के लिए गर्व की बात

विश्वस्तरीय ऐतिहासिक भव्य आद्य महालक्ष्मी मंदिर का शिलान्यास एवं भूमिपूजन  17 जुलाई को  बतौर मुख्य अतिथि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने किया था।  इस मंदिर में 101 किलो चांदी की मॉ लक्ष्मी जी प्रतिमा  सौ किलो चांदी के सिंहासन पर विराजमान होगी साथ ही अष्ठलक्ष्मी जी की चांदी से निर्मित प्रतिमा मंदिर में स्थापित होगी। मंदिर श्री यंत्र के आकार का होगा जो कि वास्तु विधि अनुसार होगा।

Breaking News
डेरा सच्चा सौदा का 76वां रूहानी स्थापना दिवस मनाने उमड़ी साध-संगत

 

Gopal Kanda अग्रोहा धाम को तीन भागों में बांटा गया है

उन्होंने कहा कि  अग्रोहा धाम को तीन भागों में बांटा गया है बीच वाला भाग मां लक्ष्मी व पूर्वी हिस्सा महाराजा अग्रसेन व पश्चिमी हिस्सा मां सरस्वती को समर्पित है। मंदिर के पिछले हिस्से में बारह ज्योर्तिलिंग से बना रामेश्वर धाम बना है। मंदिर के बीच में सरोवर का निर्माण किया गया है, जिसको 41 पवित्र नदियों के जल के साथ पावन किया गया है। वैसे तो हर रोज ही धाम में पर्यटकों का जमावड़ा लगा रहता है, लेकिन शरद पूर्णिमा के अवसर पर हर साल अग्रोहा धाम में मेला लगता है, जिसमें देशभर से लाखों पर्यटक धाम को देखने आते है।

 

इस मौके  पर मां कुलदेवी आद्य महालक्ष्मी   के प्रति आस्था एवं भक्ति व्यक्त करते हुए   गोपाल कांडा  ने श्री अग्रसेन फाउंडेशन के  भामाशाह बोर्ड ऑफ ट्रस्टी बनने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि यह उनके  एवं उनके  परिवार के लिए गर्व की बात है कि मां कुलदेवी के मंदिर निर्माण में उनके परिवार का भी सहयोग रहेगा।

Share This Article
Leave a comment